Dekho Raste Mein Lyrics in English :

Dekho raste mein, hasate hasate mein
Baat pohanchi kahaan se kahaan
Mera waada hai, yeh iraada hai
Jaayungi main bhi tum ho jahaan
Maan lo maan lo maan lo
Zindagi hai hasin maan lo
Jaan lo jaan lo jaan lo
Pyaar bin kuchh nahi jaan lo
Kya bataau main sochata hoon main
Hum hai do jism aur ik jaan
Dekho raste mein, hasate hasate mein
Baat pohanchi kahaan se kahaan

Kuchh tumase puchhu,
Puchho main sunata hoon
Ho tumako hai kitana
Sach bataana meri chaahat par yakin
O itana yakin hai jitana mujhako
Sach hai khudpar bhi nahi
Jab yeh kehate ho lagate hai
Mujhako kitani mithi tumhaari jubaan
Dekho raste mein,
Hasate hasate mein
Baat pohanchi kahaan se kahaan

Saath rahenge hum
Pyaar na hoga kam
Saagar se paani dekha hai
Tune hote kam kabhi
Haan hone na dena paas
Mere tum jara bhi ho kabhi
Laake kadamon mein
Main toh rakh dunga
Yeh jamin aur yeh aasmaan
Dekho raste mein,
Hasate hasate mein
Baat pohanchi kahaan se kahaan

Maan lo maan lo maan lo
Zindagi hai hasin maan lo
Jaan lo jaan lo jaan lo
Pyaar bin kuchh nahi jaan lo
Kya bataau main sochata hoon main
Hum hai do jism aur ik jaan
Dekho raste mein, hasate hasate mein
Baat pohanchi kahaan se kahaan o o o o…..

Dekho Raste Mein Lyrics in Hindi :

देखो रस्ते में
बात पोहंची कहाँ से कहाँ
मेरा वादा है
जायँगी मैं भी तुम हो जहां
मान लो मान लो मान लो
ज़िन्दगी है हसीं मान लो
जान लो जान लो जान लो
प्यार बिन कुछ नहीं जान लो
क्या बताऊं मैं सोचता हूँ मैं
हम है दो जिस्म और इक जान
देखो रस्ते में
बात पोहंची कहाँ से कहाँ

कुछ तुमसे पूछूं
पूछो मैं सुनाता हूँ
हो तुमको है कितना
सच बताना मेरी चाहत पर यकीं
ो इतना यकीं है जितना मुझको
सच है खुदपर भी नहीं
जब यह कहते हो लगते है
मुझको कितनी मीठी तुम्हारी जुबान
देखो रस्ते में
हस्ते हस्ते में

बात पोहंची कहाँ से कहाँ

साथ रहेंगे हम
प्यार न होगा कम
सागर से पानी देखा है
तूने होते काम कभी
हाँ होने न देना पास
मेरे तुम जरा भी हो कभी
लाके कदमों में
मैं तोह रख दूंगा
यह जमीन और यह आसमान
देखो रस्ते में
हस्ते हस्ते में
बात पोहंची कहाँ से कहाँ

मान लो मान लो मान लो
ज़िन्दगी है हसीं मान लो
जान लो जान लो जान लो
प्यार बिन कुछ नहीं जान लो
क्या बताऊं मैं सोचता हूँ मैं
हम है दो जिस्म और इक जान
देखो रस्ते में
बात पोहंची कहाँ से कहाँ ओ ओ ओ ओ…..

0Shares
0