क्राई क्राई Cry Cry Lyrics

Lyrics : Abbas Tyrewala

Music : A. R. Rahman

Label : Saregama

Cry Cry Lyrics in English :

Rotey kaaye ko hum hey
Rotey kaaye ko hum
Hona hai jo ho, sad hote kaaye ko hum

Cry cry itna cry karte hain kaaye ko
Itna darrte hain kaaye ko
Pal pal marrte kaaye ko
Why why aisa why waisa kyun hota
Yun hota toh kya hota
Jo hota hai woh hota
Fly fly baby fly dekhein aa udh ke
Dekhein baadal se judh ke
Dekhein phir na mudh mudh ke
Rotey kaaye ko hum hain
Rotey kaaye ko hum
Hona hai jo ho, sad hote kaaye ko hum
Haan raaton ko na sotey kaaye ko
Cry cry itna cry karte hain kaaye ko
Itna darrte hain kaaye ko
Pal pal marrte kaaye ko

Chaar pal ka hai,
Saanson ka kissa
Kitna hai hissa iss mein
Aansuon ka soch lo tum
Bachpan bhi tha ek,
Ik budha sa pal
Kis ne dekha kal, toh
Iss pal ki keemat jodh lo tum
Rotey kaaye ko hum hain,
Rotey kaaye ko hum
Hona hai jo ho, sad hote kaaye ko hum
Haan raaton ko na sotey kaaye ko

Baatein teri theek lagti hain
Raatein kyun hamari jagti hain
Halaatein hum kyun na
Maarein beeti baaton ko
Bhoolun main toh mujh
Ko lagaana tum ik chaanta
Chubh jaaye toh kheench lena kaanta
No no no
Poonchu main jo tujhse
Kabhi ke kyun kyun daanta
Dena phir se ek aur chaanta
Kabhi nahi, kabhi nahi
Rotey kaaye ko hum hain,
Rotey kaaye ko hum
Hona hai jo ho, sad hote kaaye ko hum
Haan raaton ko na sotey kaaye ko

Cry cry itna cry karte hain kaaye ko
Itna darrte hain kaaye ko
Pal pal marrte kaaye ko
Why why aisa why waisa kyun hota
Yun hota toh kya hota
Jo hota hai woh hota
Fly fly baby fly dekhein aa udh ke
Dekhein baadal se judh ke
Dekhein phir na mudh mudh ke

Cry cry, cry cry.

Cry Cry Lyrics in Hindi :

रोटी काये को हम हे
रोटी काये को हम
होना है जो हो

क्राई क्राई इतना क्राई करते हैं काये को
इतना दररते हैं काये को
पल पल मरर्ते काये को
व्हाई व्हाई ऐसा व्हाई वैसा क्यों होता
यूँ होता तोह क्या होता
जो होता है वह होता
फ्लाई फ्लाई बेबी फ्लाई देखें ा ुध के
देखें बादल से जुड़ के
देखें फिर न मूढ़ मूढ़ के
रोटी काये को हम हैं
रोटी काये को हम
होना है जो हो
हाँ रातों को न सोते काये को
क्राई क्राई इतना क्राई करते हैं काये को
इतना दररते हैं काये को
पल पल मरर्ते काये को

चार पल का है
साँसों का किस्सा
कितना है हिस्सा इस में
आंसुओं का सोच लो तुम
बचपन भी था एक
इक बूढा सा पल
किस ने देखा कल
इस पल की कीमत जोड़ लो तुम
रोटी काये को हम हैं
रोटी काये को हम
होना है जो हो
हाँ रातों को न सोते काये को

बातें तेरी ठीक लगती हैं
रातें क्यूँ हमारी जागती हैं
हलातें हम क्यों न
मारें बीती बातों को
भूलूँ मैं तोह मुझ
को लगाना तुम इक चाँटा
चुभ जाए तोह खींच लेना काँटा
नो नो नो
पूंछू मैं जो तुझसे
कभी के क्यूँ क्यों डांटा
देना फिर से एक और चाँटा
कभी नहीं
रोटी काये को हम हैं
रोटी काये को हम
होना है जो हो
हाँ रातों को न सोते काये को

क्राई क्राई इतना क्राई करते हैं काये को
इतना दररते हैं काये को
पल पल मरर्ते काये को
व्हाई व्हाई ऐसा व्हाई वैसा क्यों होता
यूँ होता तोह क्या होता
जो होता है वह होता
फ्लाई फ्लाई बेबी फ्लाई देखें ा ुध के
देखें बादल से जुड़ के
देखें फिर न मूढ़ मूढ़ के

क्राई क्राई

0Shares
0